चुनाव प्रचार और रैलियों में बच्चो की अब "नो एंट्री" ,लोकसभा चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग ने जारी किये निर्देश

author-image
By Ankush Baraskar
New Update
चुनाव प्रचार और रैलियों में बच्चो की अब "नो एंट्री" ,लोकसभा चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग ने जारी किये निर्देश

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले सभी राज्यों में इसकी तैयारियां शुरू हो चुकी है। सभी राष्ट्रीय एवं छेत्रिये पार्टयीं जोर सोर से अपनी प्रचार प्रेसर करने में जुट गए है। सभी की तरफ से चुनाव में बहुमत हासिल करने के लिए पूर्ण प्रयत्न की जा रही है। इन साभी तैयारियों के बिच सोमवार, 5 फरवरी को लोकसभा चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग ने राजनितिक दलो के चुनावी प्रचार को लेकर खास निर्देश जारी किया है। इस निर्देश में चुनाव आयोग द्वारा कहा गया है कि, आम चुनाव में प्रचार के पर्चे बांटते हुए, पोस्टर चिपकाते हुए, नारे लगाते हुए या पार्टी के झंडे बैनर लेकर चलते हुए बच्चे या नाबालिग नहीं दिखने चाहिए।

यह भी पढ़िए :- कमलनाथ का लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान, नकुलनाथ ही होंगे छिंदवाड़ा से उम्मीदवार

प्रचार और रैलियों में बच्चो की "नो एंट्री"

चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को भेजे परामर्श में दलों और उम्मीदवारों की ओर से चुनावी प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरीके से बच्चों का इस्तेमाल किए जाने के प्रति अपनी कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति से अवगत कराया।
इस निर्देश में साफ तोर से राजनितिक दलों को निर्देश दिया गया है कि, प्रचार गतिविधियों में बच्चों का इस्तेमाल किसी भी तरीके से नहीं होना चाहिए, चाहे वे बच्चे को गोद में उठा रहे हों या वाहन में या फिर रैलियों में बच्चे को ले जाना हों। साथ में किसी भी प्रचार के पर्चे पर और पोस्टर, बैनर्स पर बच्चो या नाबालिकों के तस्वीर इस्तेमाल करने पर भी बैन लगाया है।

यह भी पढ़िए :- जबलपुर के भिटौनी स्टेशन पर रेलवे की बड़ी लापरवाही का वीडियो हुआ वायरल, प्लेटफार्म की जगह मेन लाइन पर रोकी जा रही ट्रेने

ANI ने ट्वीट कर साझा की जानकारी

न्यूज़ एजेंसी ANI ने मामले पर और ज्यादा जानकारी साझा करते हुए लिखा कि, "भारत निर्वाचन आयोग ने चुनाव संबंधी किसी भी गतिविधि में बच्चों के इस्तेमाल को लेकर सख्त निर्देश जारी किये हैं। राजनीतिक दलों को सलाह दी गई है कि वे किसी भी रूप में चुनाव प्रचार में बच्चों का उपयोग न करें, जिसमें पोस्टर/पैम्फलेट का वितरण या नारेबाज़ी, अभियान रैलियों, चुनाव बैठकों आदि में भाग लेना शामिल है। आयोग ने बच्चों के उपयोग के प्रति 'शून्य सहनशीलता' का संदेश दिया है। पार्टियों और उम्मीदवारों द्वारा चुनावी प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरीके से"।

#breaking news #latest news #bjp loksabha planing #loksabha election 2024 #loksabha election guidlines #loksabha election update #chunav prachar #चुनाव प्रचार और रैलियों में बच्चो की अब "नो एंट्री" #लोकसभा चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग ने जारी किये निर्देश #hindi news
Latest Stories