Advertisment

किसानों की बल्ले बल्ले, मध्यप्रदेश में चने की खरीदी के दामों में हुई बढ़ोत्तरी , जानें क्या है नए मूल्य

बता दें कि मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना के तहत नाफेड द्वारा हर हफ्ते खरीद के लिए दर तय की जाएगी. गौरतलब है कि इन दिनों मध्य प्रदेश में समर्थन मूल्य पर ही ग्राम की खरीदी हो रही है.

New Update
 किसानों की बल्ले बल्ले, मध्यप्रदेश में चने की खरीदी के दामों में हुई बढ़ोत्तरी , जानें क्या है नए मूल्य
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

मध्य प्रदेश के किसानों के लिए खुशखबरी! सरकार ने उन्हें एक खास तोहफा दिया है. अब ग्राम की फसल को किसानों से ज्यादा दाम पर खरीदा जाएगा. सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं, महाराष्ट्र और राजस्थान में भी प्रति क्विंटल के रेट बढ़ा दिए गए हैं.अब मध्य प्रदेश में 5 हजार 985 रुपये प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर ग्राम की खरीद होगी. बता दें कि मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना के तहत नाफेड द्वारा हर हफ्ते खरीद के लिए दर तय की जाएगी. गौरतलब है कि इन दिनों मध्य प्रदेश में समर्थन मूल्य पर ही ग्राम की खरीदी हो रही है.

Advertisment

यह भी पढ़िए :- दुनिया का सबसे महंगा आम ! इस आम की कीमत जानकर हैरान हो जाओगे आप, MP के इस किसान ने कर दिया कमाल

किसानों के लिए अच्छी खबर!

इस हफ्ते के लिए नाफेड ने मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र में ग्राम का न्यूनतम समर्थन मूल्य 6,115 रुपये और राजस्थान में 5,995 रुपये निर्धारित किया है. इसी तरह, मध्य प्रदेश के चना उत्पादक किसानों के लिए अच्छी खबर यह है कि किसानों को ग्राम का सही दाम दिलाने के लिए ऐसे इंतजाम किए गए हैं कि उन्हें बाजार मूल्य पर ही समर्थन मूल्य मिल सके.

Advertisment

बाजार मूल्य और न्यूनतम समर्थन मूल्य में अंतर

गौर करने वाली बात यह है कि कुछ दिनों पहले तक ग्राम के बाजार मूल्य और न्यूनतम समर्थन मूल्य में काफी अंतर था, इसलिए केंद्र सरकार ने चना खरीद में नीति में संशोधन किया है. यह फैसला लिया गया है कि अब बाजार मूल्य में उतार-चढ़ाव के आधार पर हर हफ्ते ग्राम का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया जाएगा. याद रखें कि इस साल पिछले साल के मुकाबले चने का उत्पादन कम हुआ है.

यह भी पढ़िए :- तीनो सीजन में करे किसान इस फसल की खेती ! कभी नहीं होगा नुकसान, पौधे से लेकर बीज भी बिकते है महंगे दामों में होती है तगड़ी कमाई

बाजार मूल्य है ज्यादा

आपको बता दें कि उत्पादन कम होने के कारण बाजार मूल्य ज्यादा था. कम उत्पादन को देखते हुए केंद्र सरकार ने देसी चने पर आयात शुल्क भी घटा दिया है. इस वजह से राज्य में भी चने के दाम बढ़ाए गए हैं. मध्य प्रदेश में बड़े पैमाने पर चने का उत्पादन होता है. लेकिन, इस बार चने का उत्पादन ज्यादा नहीं हुआ है.

Advertisment
Latest Stories