किसानो की किस्मत चमका देगी अमरुद की खेती, कम मेहनत और कम खर्चे में दुगुनी होगी कमाई

author-image
By Ankush Baraskar
New Update
किसानो की किस्मत चमका देगी अमरुद की खेती, कम मेहनत और कम खर्चे में दुगुनी होगी कमाई

अमरुद की खेती :- किसानो के लिए साल में 3 फसलों का उपार्जन करने का समय होता है, मौसम और ऋतू के अनुसार अलग अलग फसलों का चयन कर खेती करते है, ऐसे में कभी कभी फसलों के गिरते बढ़ते दाम किसानो की समस्या को बढ़ाते है, अगर आप फायदेमंद खेती करना चाह रहे है तो आपको कुछ ऐसी ही खेती के बारे में बताने जा रहे है, हम बात कर रहे है अमरुद की खेती की, जिससे आप तगड़ी कमाई करके मुनाफा कमा सकते है, जानते है अमरुद की खेती के बारे में विस्तार से ,

यह भी पढ़िए :- बंदे ने ऐसा भिड़ाया अपना दिमाग, इसका जुगाड़ देख आप भी बोलोगे भाई “उठा ले मेरे को”

publive-image

कैसे करे अमरुद की खेती

हल्की से भारी और खराब जल निकासी वाली मिट्टी में अमरुद की खेती की जा सकती है इसे 6.5 से 7.5 पीएच वाली मिट्टी में भी उगाया जा सकता है। अमरूद के पौधे लगाने के लिए फरवरी-मार्च या अगस्त-सितंबर का महीना सबसे अच्छा समय माना जाता है. पौधे लगाने के लिए 6×5 मीटर की दूरी रखें. यदि पौधे वर्गाकार लगाए जाएं तो पौधों की दूरी 7 मीटर रखें। प्रति एकड़ 132 पौधे लगाए जाते हैं। इस प्रकार से आप अमरुद की खेती के लिए स्थान और समय का चयन कर सकते है.

अमरुद की खेती की सिंचाई का तरीका

publive-image

जानकारी के लिए बता दे अमरुद की खेती में पहली सिंचाई रोपण के तुरंत बाद तथा दूसरी सिंचाई तीसरे दिन करें। इसके बाद मौसम और मिट्टी के प्रकार के अनुसार सिंचाई की आवश्यकता होती है. अच्छे एवं स्वस्थ बगीचों को अधिक सिंचाई की आवश्यकता नहीं होती। नए लगाए गए पौधों को गर्मियों में हर हफ्ते और सर्दियों में महीने में 2 से 3 बार सिंचाई की आवश्यकता होती है। फूल आने के समय पौधे को अधिक सिंचाई की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि अधिक सिंचाई करने से फूल गिरने का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़िए :- रचना तिवारी के स्टेज डांस ने बढ़ाया इंटरनेट का पारा, रचना के कतई जहर ठुमके के आगे सपना चौधरी भी फीकी चाय। देखे वीडियो

अमरुद के फायदे

publive-image

अमरूद सेहत के लिए काफी लाभदायक माना जाता है. यह डाइटरी फाइबर, कॉपर, जिंक पोटैशियम, विटामिन सी, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम आदि कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। कब्ज और डायबिटीज की समस्या के लिए अमरूद रामबाण माना जाता है। इतना ही नहीं, यह त्वचा और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। जिससे बाजारों में इसकी मांग और बढ़ जाती है.

यह भी पढ़िए :- बड़ी से बड़ी बीमारी को जड़ से खत्म करेगा ये अमृत ड्रिंक, जाने कब और कैसे करे सेवन

किसानो के लिए मुनाफे का सौदा अमरुद की खेती

अमरुद की खेती किसानो के लिए मुनाफे का सौदा साबित हो सकती है, बिजाई के 2-3 साल बाद अमरूद के पौधों फल लगने शुरू हो जाते हैं। अमरुद की खेती में 15-16 माह में ही फलन होने लगता है। पूरी तरह पकने के बाद फलों का रंग हरे से पीला होना शुरू हो जाता है। बाजार में प्रति किलोग्राम कीमत 80 से 100 रुपए के बीच होती है.जिसकी सहायता से आप सालाना इसकी खेती से किसान मालामाल हो सकते है,

Latest Stories