Advertisment

Pandit Pradeep Mishra upay: पंडित प्रदीप मिश्रा के चमत्कारी उपाय

author-image
By Pradesh Tak
New Update
Pandit Pradeep Mishra upay
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Pandit Pradeep Mishra upay:पंडित प्रदीप मिश्रा जी, जिन्हें सीहोर वाले बाबा और रघु के नाम से जाना जाता है, शिव पुराण की कहानियां सुनाते हैं और उसी दौरान या कहानी के बीच वे जीवन को खुशहाल बनाने के उपाय भी बताते हैं. उनके छोटे-छोटे उपाय बहुत प्रसिद्ध हो गए हैं. आप भी उनके बताए इन उपायों को अपनाकर अपना जीवन खुशहाल और समृद्ध बना सकते हैं. हम आपके लिए सोशल मीडिया पर चर्चित 10 महत्वपूर्ण टिप्स लेकर आए हैं. इन उपायों को विस्तार से जानने के लिए आप पंडित जी का विडियो देख सकते हैं.

Advertisment

1. कार्य में बाधा दूर करने का उपाय

पंडित प्रदीप मिश्रा जी बताते हैं कि अगर कोई भी काम नहीं बन रहा है, आपके सामने बहुत सी रुकावटें आ रही हैं तो सोमवार के दिन अष्टमी तिथि को 31 मूंग के दाने, 31 चावल के दाने और 31 बेलपत्र लेकर शिव मंदिर जाएं. अपनी मनोकामना का जाप करने के बाद चावल को शिव मंदिर के बाहर चौखट पर रख दें. ध्यान रहे कि ये चावल किसी के पैरों में न आएं. मूंग के दाने ऊंचे रहने वाले नंदी जी के पैरों के पास रख दें. बेलपत्र जलाधारी में जहां से पानी निकलता है, वहां को अशोक सुंदरी का स्थान कहा जाता है. उन पत्तों को वहीं रख दें. आपकी मनोकामना अगले सोमवार की अष्टमी तक पूरी हो जाएगी.

2. कर्ज से मुक्ति पाने का उपाय

Advertisment

पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि मंगलवार और बुधवार को लिया गया कर्ज कभी नहीं चुका पाता है. ऐसे में इन 2 दिनों में कर्ज लेने से बचना ही उचित रहता है. कर्ज से मुक्ति पाने के लिए मंगलवार के दिन भगवान शिव को मसूर की दाल चढ़ाते समय ॐ ऋंमुक्तेश्वर महादेवाय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए. इससे कर्ज से मुक्ति मिलती है.

3. एक के बाद एक परेशानी आने पर उपाय

पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि कई बार ऐसा होता है कि एक दुख दूर होने के बाद दूसरा दुख आ जाता है. एक समस्या हल होती नहीं कि दूसरी सामने आ खड़ी होती है. ऐसी स्थिति में प्रदोष के दिन प्रदोष काल के दौरान दो जगहों पर दीप जलाना शुरू करें. पहला दीप बेलपत्र वाले पेड़ के नीचे रखें और दूसरा दीप घर में प्रवेश करते समय दाहिने हाथ की तरफ बाहर चौखट पर रखें. दोनों ही जगहों पर भगवान शिव से प्रार्थना करें कि हे नंदीश्वर, जब आप प्रदोष काल में यात्रा पर निकलते हैं तो मैंने भी आपके लिए द्वार सजाया है. कृपा करके मेरे घर के द्वार पर भी कुछ कृपा दृष्टि डालें.

Advertisment
Latest Stories