Advertisment

Indore loksabha election: स्वच्छता के बाद अब अहिल्यानगरी बन सकती है नोटा के इस्तेमाल में नं. 1 , बीजेपी की लक्ष्य को लेकर बढ़ी चिंता

कल देर रात भाजपा की तत्कालीन बैठक संपन्न हुई जिसकी चर्चा करने से नेता बचते दिखे।  इंदौर की सीट पर भाजपा का रास्ता साफ़ होने के बावजूद भी नोटा का इस्तेमाल चिंता बढ़ा सकता है. 

New Update
nota
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Indore loksabha election: लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा वोट प्रतिशत बढ़ाने की  पुरजोर कोशिश में है.और इंदौर की लोकसभा सीट पर कुछ आशंकित माहौल सा बन रहा है. कल देर रात भाजपा की तत्कालीन बैठक संपन्न हुई जिसकी चर्चा करने से नेता बचते दिखे।  इंदौर की सीट पर भाजपा का रास्ता साफ़ होने के बावजूद भी नोटा का इस्तेमाल चिंता बढ़ा सकता है. 

Advertisment

यह भी पढ़िए :- कांग्रेस नेता राधिका खेड़ा ने दिया पार्टी से इस्तीफा लिखा प्रभु श्री राम की भक्त व एक महिला होने के नाते मैं बेहद आहत हूँ।

29 अप्रैल को हुए वाकिये को लेकर भाजपा का शीर्ष नेतृत्व वोट प्रतिशत को लेकर चिंतित है. इसलिए कार्यकर्ताओ को निर्देश दिए की हर-हाल में मतदान प्रतिशत बढ़ाना है. इंदौर में 9 विधायकों की उपस्थिति में हुई इस खास बैठक में सूत्रों से पता चला है की नोटा के ज्यादा इस्तेमाल को लेकर आशंका जाहिर की है. जो की स्वच्छता में नं. 1 शहर नोटा में नं. 1 ना आ जाये। 

यह भी पढ़िए :- Hapur News: बुलेट के 509 साइलेंसरो को रोड पर रखकर चलाया रोडरोलर, जनता को सन्देश देने के लिए पुलिस ने उठाया कदम वीडियो वायरल

इस बात को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने विशेष दल बनाया है. जिसमे अनुभवी और वरिष्ठ नेताओ को शामिल किया गया है. इसमें बहुत सारे भागो में दलों के कार्यकर्त्ता वोट करने के लिए जनता को प्रेरित करेंगे। और साथ ही रणनीति को मजबूत करने के लिए इस बार भाजपा ने इंदौर में 70 प्रतिशत से ज्यादा मतदान कराने का फैसला किया है. 

Advertisment
Latest Stories