Advertisment

Chhatrapur: अपराधों से इतनी मौतें नहीं होती, जितनी सड़क हादसों से - डीआईजी

जब हम सड़कों पर पड़े घायल या उनके परिजनों की स्थिति देखते हैं, तो बहुत कष्ट होता है-एसपी 

New Update
अपराधों से इतनी मौतें नहीं होती, जितनी सड़क हादसों से - डीआईजी
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Chhatrapur/संवाददाता संदीप सेन छतरपुर:- देश में सड़क हादसों से मरने वालों की संख्या डेढ़ लाख से ऊपर पहुंच रही है। जबकि इतनी मौतें अपराधों से नहीं हो रही हैं। शायद ही कोई परिवार या उसका पड़ोसी इन हादसों से वचिंत हो। उक्त बात छतरपुर रेंज के डीआईजी ललित शाक्यवार ने स्थानीय ऑडिटोरियम में सात दिवसीय रोड सेफ्टी समर कैंप के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि की आसंदी से कही। श्री शाक्यवार ने कोरोनाकाल के दौरान अपनी स्वरचित कविता भी पढ़ी और कहा कि हम पुलिस वाले कितनी मुशतैदी से अपना कार्य निवर्हन करते हैं, अपनी जान की परवाह न कर लोगों की जान बचाते हैं, फिर ही हमारे ऊपर उंगलियां उठती हैं। पत्थर फैकें जाते है,

Advertisment

यह भी पढ़िए :- Dairy Farming Loan Yojana : डेयरी फार्मिंग के लिए मिलेगा लोन इस प्रकार करना होगा आवेदन

इसके बावजूद यह सब सहकर, हम अपना कत्वर्य निभाते हुए, वर्दी को नहीं लजाते हैं। डीआईजी ने कहा कि, सड़क हादसे कैसे भी हों, रूकना चाहिए। जब एक परिवार का सदस्य हमसे बिछड़ जाता है, तब उस परिवार की स्थिति क्या होती है, केवल सदस्य ही नहीं बिछड़ता है, बल्कि एक कमाने वाला व्यक्ति भी चला जाता है, जिससे परिवार के सामने अनेक समस्याएं आ जाती हैं। इसके पश्चात कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि, जिले के पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने अपने उद्धबोधन में वही शब्द कहे, जो उनके मन मस्तिष्क को, रोड सेफ्टी समर कैंप आयोजन के पूर्व कचोट रहे थे। श्री जैन ने कहा कि, जब सड़कों पर पड़े घायल या उनके परिवार की स्थिति देखते हैं, तो बहुत कष्ट होता है।

यह भी पढ़िए :- RTO ने ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर दिया बड़ा नियम जान ले नहीं भरना पड़ेगा 25 हजार का जुर्माना

इसी मंशा के अनुरूप रोड सेफ्टी समर कैंप का आयोजन किया गया है, जिसमें इन नौनिहालों सहित किशोरों ने सड़क सुरक्षा हेतु जो संकल्प लिया है। अब वे रोडों पर आकर उसी संकल्प की अवधारणा के तहत मानव जीवन बचाने का कार्य करते हुए लोगों को यातायात नियमों का पालन कराएंगे। अंत में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह ने भी अपना उद्धबोधन दिया। कार्यक्रम का संचालन यातयात प्रभारी ब्रहस्पति साकेत ने किया। इस अवसर पर रोड सेफ्टी समर कैंप में प्रशिक्षण प्राप्त, प्रतिभागियों ने अपनी मनमोहक प्रस्तुतियां दी। प्रस्तुति के दौरान पांच वर्ष के बच्चों में मानव जीवन बचाने की ललक देखी गई, इस अवसर पर प्रतिभागियों के माता पिता, गणमान्य नागरिक सहित पत्रकार बंधु उपस्थ्ति रहे।

Advertisment
Latest Stories