Advertisment

Chhatarpur: छतरपुर पुलिस के नशा विरुद्ध अभियान के तहत जिले में हो रही निरंतर कार्यवाही

थाना सिविल लाइन पुलिस ने 60 लीटर से अधिक अवैध शराब कीमती ₹ 23,500 की जप्त, आरोपी गिरफ्तार, आदतन अपराधी नफीस उर्फ जादूगर पर मारपीट, संपत्ति का नुकसान जैसे 4 अपराध पूर्व से दर्ज

New Update
छतरपुर पुलिस के नशा विरुद्ध अभियान के तहत जिले में हो रही निरंतर कार्यवाही
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Chhatarpur/संवाददाता संदीप सेन :- पुलिस अधीक्षक छतरपुर अगम जैन ने समस्त थाना प्रभारी को नशाखोरों एवं अवैध रूप से नशा विक्रय / संग्रह करने वाले, तस्कर के विरुद्ध सख्त एक्शन कार्यवाही हेतु निर्देशित किया है। छतरपुर जिले के समस्त थाना क्षेत्र अंतर्गत नशा के विरुद्ध कड़ी कार्यवाहियां की जा रही है। दिनांक 19/05/2024 को थाना सिविल लाइन में देहात भ्रमण के दौरान सूचना प्राप्त हुई की सिंघाड़ी नदी के किनारे पेड़ के नीचे के एक व्यक्ति अवैध शराब से भरी दो बोरियां लेकर कहीं जाने की फिराक में खड़ा है।

Advertisment

यह भी पढ़िए :- Chhatarpur: सिविल लाईन पुलिस ने महेंद्र गुप्ता हत्या से संबंधित आरोपी राजपाल सिंह को गिरफ्तार कर भेजा जेल

सूचना प्राप्त होते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  विक्रम सिंह एवं नगर पुलिस अधीक्षक अमन मिश्रा के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सिविल लाइन निरीक्षक वाल्मीकी चौबे के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा संबंधित स्थान सिंघाड़ी नदी के किनारे पहुंचे।
पेड़ के नीचे दो बोरी रखे व्यक्ति की तलाशी ली गई। बोरियों को खोलकर देखने पर अवैध शराब प्रिंस लेमन कंपनी की मिली। आरोपी से पूछताछ पर नाम नफीस राइन उर्फ जादूगर निवासी संकट मोचन पहाड़िया छतरपुर का होना बताया।  कुल 336 क्वार्टर कुल मात्रा 60 लीटर 500 मिली कीमत 23520 आरोपी के कब्जे से जप्त कर थाना सिविल लाइन में आबकारी अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया।

यह भी पढ़िए :- Chhatarpur news: आईटीआई फिटर ट्रेड में प्रीति को मिला प्लेसमेंट,अब घर की जिम्मेदारियों के साथ सपनों को कर रहीं पूरा

आदतन अपराधी नफीस उर्फ जादूगर के विरुद्ध गाली गलौज, मारपीट, जान से मारने की धमकी एवं संपत्ति को नुकसान संबंधी 4 अपराध पूर्व से पंजीबद्ध हैं। अभियुक्त को न्यायालय पेश कर जेल भेजा जा रहा है। विवेचना कार्यवाही जारी है। उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सिविल लाइन निरीक्षक वाल्मीकि चौबे, सहायक उप निरीक्षक मदन मोहन दुबे, प्रधान आरक्षक राजीव मिश्रा, आरक्षक भूपत सिंह एवं आरक्षक मुकेश चौहान की मुख्य भूमिका रही।

Advertisment
Latest Stories