Advertisment

Dewas News: पहली बार 1.5 साल के शिशु के दिल का ऑपरेशन कर अमलतास अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने बचाई जान

बच्चे के दिल में जन्मजात छेद था, मगर उसके दिल का सीधा हिस्सा (राइट वेंट्रिकल) पूर्ण रूप से विकसित नहीं था, इसे सिंगल वेंट्रिकल कहते हैं। ऐसे में बच्चे के दिल में जन्म से बने छेद को बंद करना नामुमकिन होता है।

New Update
पहली बार 1.5 साल के शिशु के दिल का ऑपरेशन कर अमलतास अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने बचाई जान
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Dewas News/संवाददाता राम मीणा देवास:- अमलतास अस्पताल देवास में हाल ही एक बड़ी सर्जरी को अंजाम दिया गया मास्टर देवांश 1.5 साल निवासी नागदा जिसे जन्मजात हृदय रोग की बीमारी का बोज कम उम्र में ही झेलना पड़ा | बच्चे के दिल में जन्मजात छेद था, मगर उसके दिल का सीधा हिस्सा (राइट वेंट्रिकल) पूर्ण रूप से विकसित नहीं था, इसे सिंगल वेंट्रिकल कहते हैं। ऐसे में बच्चे के दिल में जन्म से बने छेद को बंद करना नामुमकिन होता है।

Advertisment

यह भी पढ़िए :- Dewas: आबकारी विभाग ने बागली वृत्‍त में कार्यवाही कर 05 प्रकरण दर्ज, 3000 किलो ग्राम महुआ लाहन एवं 40 लीटर हाथ भट्टी मदिरा जप्त

बच्चे के दिल का ऑपरेशन करने वाली टीम के प्रमुख व सीटीवीएस विभाग के पीडियाट्रिक एवं एडल्ट कॉर्डियक सर्जन डॉ. प्रीतम सांगवान  ने बताया कि उन्होंने इस पेशेंट के सिर से अशुद्ध रक्त लाने वाली नस (एसवीसी) को काटकर उसके फेफड़े में सीधे जोड़ दिया, जिससे बच्ची की ऑक्सीजन की मात्रा 60 प्रतिशत से बढ़कर 90 प्रतिशत तक हो गई। अब शिशु पूरी तरह से स्वस्थ हैं। परिजन द्वारा चिकित्सको के अथक प्रयासों एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत निशुल्क इलाज के धन्यवाद दिया। 

यह भी पढ़िए :- Pandhurna: चालक और आशा कार्यकर्ता की सूझ बूझ से जननी एक्सप्रेस के अंदर महिला का सुरक्षित प्रसव

इस जटिल ऑपरेशन को अंजाम देने वाली अनुभवी  टीम में डॉ.विवेक अग्निहोत्री डॉ. रोहित यूके , डॉ. महेंद्र, डॉ. विकास , साथ बुराहुद्दीन, नितेश, भरत ,आरती ,पवन त्यागी एवं सभी सीटीवीएस आईसीयु टीम शामिल थी | अस्पताल के चेयरमैन मयंक राज भदौरिया जी द्वारा अमलतास हृदय रोग संस्थान में बेहतर एवं उत्कृष्ट स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने वाली अनुभवी कार्डियक टीम को इस जटिल सफल सर्जरी के लिये बधाई दी | साथ ही देवास और आस-पास के जिले के लोग भी अमलतास आकर ह्रदय रोग विभाग का लाभ उठा रहे है हमारा प्रयास है की हम जनमानस के लिए बेहतर सुविधा प्रदान करे जिस से उनको कही और ना जाना  पड़े |

Advertisment
Latest Stories