Advertisment

Dewas News: संस्था राम-राम के संस्थापक की हत्या की सुपारी देने वालों पर कार्यवाही की मांग

हिन्दू युवा एवं संस्था सदस्यों ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में सौंपा ज्ञापन....

New Update
संस्था राम-राम के संस्थापक की हत्या की सुपारी देने वालों पर कार्यवाही की मांग
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Dewas/संवाददाता राम मीणा देवास:- संस्था राम-राम के सदस्यों व हिन्दू समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में शुक्रवार को नारेबाजी करते एसपी कार्यालय पहुंचकर एएसपी जयवीर सिंह भदोरिया को एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बताया कि इस्लामिक कट्टरपंथी सोच रखने वाले व्यक्तियों की ओर से राष्ट्रवादी व सनातन धर्म व सामाजिक कार्य करने वाले शैलेंद्र सिंह पवार की हत्या करने के लिए षडय़ंत्र रचा जा रहा है। मामले में शामिल लोगों पर शीघ्र कार्रवाई करने की मांग की है। मामले में एएसपी जयवीर सिंह भदोरिया ने बताया कि मामले में इंदौर निवासी इमरान चौहान का स्टेटमेंट लिया गया है।

Advertisment

यह भी पढ़िए :- BSF Commandant Vacancy: BSF ने निकाली अस्सिस्टेंट कमांडेंट और डिप्टी कमांडेंट पदों पर बम्पर भर्ती, जल्द करे आवेदन यहाँ से

इंदौर जिले में भी आवेदन पत्र अलग-अलग जगह दिए गए है। मामले में जांच चल रही है गैंग से अलग हुए सदस्य ने किया था खुलासा शहर की संस्था राम-राम के संस्थापक शैलेन्द्र पवार की हत्या की सुपारी इंदौर की गैंग संचालक को दी गई। इसका खुलासा उस गैंग से कुछ समय पहले ही अलग हुए इंदौर चंदनगर निवासी इमरान चौहान ने किया। उसने इंदौर कलेक्टर को एक आवेदन देकर इस मामले में उसका कोई लेना-देना नहीं होने की बात कही। वह गुरुवार को देवास पुलिस के पास भी पहुंचा। जिसके बाद पुलिस को भी इस मामले में बताया था। उसके बाद पुलिस ने मामले को जांच में लिया था।

यह भी पढ़िए :- Agar Malwa: जिन स्थानों पर पेयजल की अत्यधिक समस्या हो रही है वहां अन्य स्थानों से आपूर्ति करवाएं - कलेक्टर श्री सिंह

इमरान की तरफ से बताया गया था कि देवास के एक बड़े नेता की ओर से इंदौर गैंग को सुपारी दी गई है। जिसमें मुझे फंसाया जा सकता है। मैं पिछले कुछ वर्षों से अपराध की दुनिया से अलग हो चुका हूं।संस्था के कार्यकर्ता बडी संख्या में चामुण्डा काम्पलेक्स में एकत्रित हुए और पैदल एसपी कार्यालय पहुंचे। जहां ज्ञापन सौंपते हुए सुपारी देने वाले मामले में शामिल समस्त लोगों उचित कार्यवाही की जाए। यदि ऐसे में शैलेन्द्र सिंह पवार एवं उनके परिवार के सदस्यों पर आर्थिक व शारीरिक क्षति होती है तो इसका जिम्मेदार देवास प्रशासन होगा। इस दौरान बडी संख्या में हिन्दू समाजजन उपस्थित थे।

Advertisment
Latest Stories