Advertisment

Gopal Bhargava : चुनाव आयोग को लेकर ये बोल गए गोपाल भार्गव

लोकसभा चुनाव से पहले मध्यप्रदेश की राजनीति गरमा गयी है ∣ जो भाजपा और कांग्रेस दोनों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है ∣ इसी बीच मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और रहली विधायक गोपाल भार्गव ने चुनाव आयोग को लेकर बड़ी बात कह दी है।

author-image
By Pooja Sen
New Update
d

Gopal Bhargava: Former minister Gopal Bhargava said this regarding the Election Commission

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment

इसी बीच मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और रहली विधायक गोपाल भार्गव ने चुनाव आयोग को लेकर बड़ी बात कह दी है। 

Advertisment

ये है पूरा मामला

बता दे कि मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और रहली विधायक गोपाल भार्गव ने चुनाव आयोग को पत्र लिखा कहा है कि इंसान को बीमारियां चुनाव और आचार संहिता देखकर नहीं आती है । इसके अलावा भार्गव ने सीएम से खुद को प्रतिबंध से मुक्त करने को कहा है । 

ये भी पढ़े :- MP Weather News: MP में फिर बदलेगा मौसम, तेज हवा के साथ होगी बारिश

Advertisment

अपने पत्र में लिखा भार्गव ने ये

बता दे कि पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव ने चुनाव आयोग को पत्र लिख कहा है कि मेरे विधानसभा क्षेत्र रहली जिला सागर समेत संपूर्ण मध्यप्रदेश में आम चुनाव 2024 की आदर्श आचार संहिता के चलते सीएम स्वेच्छानुदान स्वीकृति की प्रक्रिया बीते तीन दिनों से बंद है। इसके कारण लोग इलाज के आर्थिक सहायता के लिए भटक रहे हैं। 

Gopal Bhargava

Advertisment

ये भी पढ़े :- Cyber Crime: AI की मदद से बेटी आवाज निकल पिता से ऐठ लिए लाखों रुपए, जानें क्या है मामला

आचार संहिता देखकर नहीं आती बीमारियां

मंत्री गोपाल भार्गव ने चुनाव आयोग से अनुरोध करते हुए कहा है कि बीमारियां चुनाव  और आचार संहिता देखकर नहीं आती है। इसके चलते सीएम स्वेच्छानुदान की स्वीकृति को आदर्श आचार संहिता में प्रतिबंधित किया है । इसमें मानवीय दृष्टिकोण देखते हुए प्रतिबंध से मुक्त करने का कष्ट करें। 

मप्र सरकार से किया ये अनुरोध

गोपाल भार्गव ने आगे अपने पत्र में लिखा की। मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से राशि स्वीकृत की जाती है । जो गंभीर बीमारियों के लिए दी जाती है। जो अस्पताल को मरीज के लिए जाती है। न की बीमार व्यक्ति के खाते में।

Advertisment
Latest Stories