Advertisment

MP Lok Sabha Election 2024: एमपी मे पहले फेज के शुरू हुए नामांकन , मुख्यमंत्री मोहन यादव आएं नजर

MP Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीट पर 4 फेज मे चुनाव होने है । जिसमे पहले फेज के तहत प्रदेश की 6 सीट पर चुनाव होने है । जिसके लिये आज से नामांकन प्रोसेस शुरू हो गई है ।

New Update
L

MP Lok Sabha Election 2024: Nominations for the first phase started in MP, Chief Minister Mohan Yadav was seen

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment
जिसमें प्रदेश के डॉ.   मुख्यमंत्री मोहन यादव नजर आएं है । इसी बीच सीधी से बीजेपी प्रत्याशी राजेश  मिश्रा ने अपना नामांकन  फोरम बार जमा कर दिया है । 
Advertisment

इन जिलो के लिये भरे जाएगे नामांकन आज 

बता दे की मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीट पर 4 फेज मे चुनाव होने है । जिसमे पहले फेज के तहत प्रदेश की 6 सीट पर चुनाव होने है । जिसके लिये आज से नामांकन प्रोसेस शुरू हो गई है । जिसमें  
Advertisment
 छिंदवाड़ा, जबलपुर, मंडला, सीधी, शहडोल और बालाघाट हैं। इसके अलावा  सीधी से बीजेपी उम्मीदवार डॉ. राजेश मिश्रा ने मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के साथ अपना नामांकन जमा कर दिया है। 
Advertisment

ये आये थे नामांकन जमा कराने 

 29 लोकसभा सीट पर 4 फेज मे चुनाव होने है । जिसमे पहले फेज के तहत प्रदेश की 6 सीट पर चुनाव होने है । इसी बीच सीधी से लोकसभा प्रत्याशी डॉ. राजेश मिश्रा के नामांकन में शामिल होने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री  डॉ. मुख्यमंत्री मोहन यादव  और उप मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ला, कैबिनेट मंत्री प्रहलाद पटेल और धौहनी विधायक कुंवर सिंह टेकाम भी नामांकन जमा कराने पहुंचे थे। 

राजेश मिश्रा की हो रही है इसलिए चर्चा 

आपको बता दे कि डॉ. राजेश मिश्रा चुरहट तहसील अंतर्गत अकौरी गांव के हैं। मिश्रा की  उम्र 67 साल है।  उन्होंने मेडिकल की शिक्षा इंदौर से प्राप्त कर चिकित्सा के क्षेत्र में शामिल हुए।  जिला चिकित्सालय में शासकीय चिकित्सक के रूप में सेवाएं भी दी हैं, राजेश मिश्रा के सियासी सफर की बात करें।  तो इन्होंने अपनी पारी की शुरूआत बसपा से की थी।  साल 2008 में वे सीधी विधानसभा से बतौर प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे थे. उन्हें 13741 मत मिले थे, बीजेपी कांग्रेस के बाद वे तीसरे स्थान पर थे. साल 2009 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के हाथों बीजेपी की सदस्यता ली थी। 

 टिकट न मिलने पर मिश्रा ने की थी  बगावत  

डॉ. राजेश मिश्रा ने  भारतीय जनता पार्टी से विधानसभ चुनाव में सीधी से टिकट न मिलने पर बगावत की थी, बाद में पार्टी के आश्वासन के बाद शांत हुए थे, यही कारण है कि इन्हें लोकसभा चुनाव का टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारा गया है। 
Advertisment
Latest Stories