Advertisment

Ujjain: उज्‍जैन मे बना रहा है ‘महाकाल सांस्कृतिक वन’, नजर आएंगा गौरवशाली अतीत का प्रतिबिंब

Ujjain : मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी उज्‍जैन मे पांच एकड़ भूमि पर ‘महाकाल सांस्कृतिक वन’, बनाया जा रहा है । जिसके जरिये देश की गौरवशाली अतीत का प्रतिबिंब नजर आने वाला है ।

author-image
By Pooja Sen
New Update
k

Ujjain: 'Mahakal Cultural Forest' is being built in Ujjain, reflection of glorious past will be seen

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
बता दे कि ये  विक्रम विश्वविद्यालय के खेल मैदान और विक्रम सरोवर से सटा हुआ है । इसके अलावा इसके मुख्य द्वार मे  सम्राट विक्रमादित्य  से देवास रोड पर  पहुंच  मार्ग है।
Advertisment

पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है ये वन 

Advertisment
आपको बता दे कि ये वन मुख्य रूप से पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है। जहा पर श्रीकृष्ण वाटिका, श्रीराम वाटिका, अशोक वाटिका, कालिदास वाटिका, सप्त ऋषि वाटिका, नक्षत्र वन, हर्बल नर्सरी प्रकृति के प्रति प्रेम बढ़ाने के अलावा  आध्यात्मिक का बोध कराती है।
Advertisment

गौरवशाली अतीत की दिखलाता है झलक 

मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी उज्‍जैन मे पांच एकड़ भूमि पर ‘महाकाल सांस्कृतिक वन’, बनाया जा रहा है । जिसके जरिये देश की गौरवशाली अतीत की झलक दिखलाता है।  जहा पर  ‘महाकाल महालोक’ के बाद अब ‘महाकाल सांस्कृतिक वन’ बनाता नजर आ रहा है। 

 

सम्राट विक्रमादित्य का बनाया जा रहा है सिंहासन 

इसे अलावा यह पर  सम्राट विक्रमादित्य का सिंहासन भी  बनाया जा रहा है। जिसका  भव्य प्रवेश द्वार बनकर तैयार है। इसमे  द्वार के शिखर पर एक  त्रिशूल भी लगा हुआ है जो मन में आध्यात्मिक भाव लाता है। 

8 करोड़ रुपये की है ये योजना

आपको बता दे महाकाल सांस्कृतिक वन की कार्य योजना 8 करोड़ रुपये की है। जिसे बनाने की बात सालभर पहले की गई थी। जिसके लिए  50 लाख रुपये स्वीकृत किए गए थे। जहा पर जमीनी स्तर पर कार्य वन विभाग काम  कर रहा था।

सांस्कृतिक वन  योजना ले रही है आकार 

वही सांस्कृतिक वन की योजना जो की गुजरात के सांस्कृतिक वन फार्मूले पर आधारित है। जो अब  भोपाल, सतना, छतरपुर में भी आकार ले रहे हैं।

16 मार्च को मुख्यमंत्री डॉ . मोहन यादव वर्चुअल कर चुके हैं भूमि पूजन

बता दे की इस के लिये 16 मार्च को मुख्यमंत्री डॉ . मोहन यादव वर्चुअल भूमि पूजन कर चुके हैं। इसके अलावा इस वन मे  महाकाल सांस्कृतिक वन, विक्रम विश्वविद्यालय के खेल मैदान और विक्रम सरोवर से सटा है। 
Advertisment
Latest Stories