Advertisment

Chhatarpur : राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सट्टा नेक्सस से जुड़े हैं छतरपुर के सटोरियों के तार, राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियों की नजर में कुछ नाम

सट्टे में पैसा हारने वाले युवकों के  परिवारों के घर में घुसते यह गुंडे वसूली के लिए परिवार की माता बहनों से भी करते हैं अभद्रता

author-image
By Ankush Baraskar
New Update
Chhatarpur
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Chhatarpur/संवाददाता संदीप सेन :-  सट्टा खिलाने वाले सलमान और उसके जैसे कई सट्टे के सरगना अधिकतर उन परिवारों के लड़कों को बनाते हैं जो अति सामान्य परिवार से आते है ये उन्हें अपना निशाना बनाकर उन्हें सट्टे के अंधे काले कारोबार में धकेल कर लाखों करोड़ों का कर्जदार बनाते हैं और फिर उसे कर्ज को वसूलने के लिए उनके घर में घुसकर उनके पूरे परिवार के साथ धमकी और अभद्रता का व्यवहार करते हैं कई बार मारपीट भी की जाती है उनकी माता बहनों तक को नहीं छोड़ते और उनसे भी गाली-गलौज और बदसलूकी करने से बाज नहीं आते न जाने कितने परिवारों की महिलाएं के  गहने गिरवी रखवा कर पैसे वसूले गए हैं और कुछ की तो जमीन तक अपने नाम कर ली गई ।

Advertisment

यह भी पढ़िए :- Indore Loksabha: कांग्रेस इंदौर में हुई पस्त ! कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम ने नामांकन वापस लेकर ली भाजपा की सदस्यता

छतरपुर में सट्टे का काला कारोबार करने वाले सलमान खान और उसके भाई पर फिर तो दर्ज हो गई लेकिन क्या माता बहनों के साथ पैसा वसूली के लिए की जाने वाली अभद्रता की सजा भी नहीं मिलेगी। यह सब शायद कभी सामने नहीं आता जब तक सट्टे में काफी लंबे समय से लिप्त रहे एक ब्राह्मण परिवार के लड़के की प्रताड़ित मां सामने नहीं आती जो अपने घर का सोना चांदी समेत पर परिवार की सुख शांति भी तबाह होते चुपचाप देखती रही। प्रदीप द्विवेदी सलमान खान के यहां सट्टे के कारोबार में काम किया करता था और जब वह खुद सट्टा हार गया तो सलमान खान और उसके भाई के साथ-साथ गुंडो ने प्रदीप द्विवेदी का जीना हराम कर दिया और उसके सारे घर के सारे जेवर गिरवी रखवा कर अपनी वसूली की और बाद में उसे भी अपने यहां 3% के कमीशन पर वसूली में लगा लिया ।


सट्टे की बुरी लत के चलते सलमान खान के भाई शाहरुख खान ने आत्महत्या कर ली थी और उसका इल्जाम प्रदीप द्विवेदी पर इसलिए लग गया क्योंकि शाहरुख खान ने अपने जेब में मरने से पहले एक चिट्ठी छोड़ी थी जिसमें यह जिक्र किया था कि उसकी मौत का कारण प्रदीप द्विवेदी है लेकिन प्रदीप द्विवेदी तो सिर्फ वसूली करने वाला एजेंट है असल में की पूरा पैसा सलमान खान का था जो बड़े स्तर पर लोटस , ब्लैक और ग्रीन नाम की तीन सट्टे की बड़ी सॉफ्टवेयर की आइडिया चलाता है जिससे वह पूरा व्यापार किया करता था सबसे पहले उसने प्रदीप द्विवेदी को अपना कर्जदार बनाया और उसे सट्टे में 15 से 20 लाख रुपए की हार के बाद कर्ज की वसूली का हथियार बनाते हुए उसके घर के गहने गिरवी रखना और पैसा वसूल और बाकी पैसे के लिए उसने उसे अपने ही व्यापार में तीन प्रतिशत की कमीशन पर एजेंट बना दिया अब प्रदीप द्विवेदी पूरा काम एजेंट बनकर करता था और सलमान खान के द्वारा उपलब्ध कराई गई डायरयों और सट्टे या मैच की आइडिया पर लोगों को सट्टा खिलवाने का काम करना शुरू कर दिया जो coins के नाम से दिए जाते थे

Advertisment

,
लेकिन जब शाहरुख खान की मौत हो गई तो प्रदीप द्विवेदी उसे मामले में आरोपी बनते दिखने लगा तब सलमान खान के पिता ने एक नई साजिश रची और उसके घर पर अपने रिश्तेदारों को भेजना शुरू किया और शाहरुख खान उर्फ शालू की आत्महत्या मामले में प्रदीप द्विवेदी को ना फसाने की एवज में 20 लाख रुपए नगद या उसके राधिका गार्डन वाले मकान की रजिस्ट्री अपने किसी आदमी के नाम करने की बात कहने लगे 
प्रदीप द्विवेदी के परिवार पर दबाव इतना ज्यादा था कि उसके परिवार वाले मान गए और आधी किश्त के 10 लाख रुपए लेकर उसके घर पहुंचे और कहा कि हम आपके घर पर बैठे हैं आप जाकर प्रदीप द्विवेदी के पक्ष में बयान दे दीजिए लेकिन इन लोगों की चाल कुछ और थी और यह पैसा हड़पने के बावजूद प्रदीप द्विवेदी को फसाना चाहते थे .....
प्रदीप द्विवेदी के रिश्तेदार और सलमान खान के पिता जहूर काऑडियो भी वायरल हो चुका है जिसमें वह बयान बाद में देने और पहले पैसा लेने की बात कर रहे हैं*

किसी सूत्र ने प्रदीप द्विवेदी को फोन पर सूचना दी के तुम्हारे खिलाफ बयान दिए जा रहे हैं तुम फंस चुके हो इसके बाद प्रदीप द्विवेदी भाग गया और अपनी अग्रिम जमानत के लिए आवेदन हाई कोर्ट में आवेदन करने लगा लेकिन यहां सिविल लाइन पुलिस ने इस मामले में पाया की सट्टे का एक बड़ा कारोबार सलमान खान के द्वारा ही ऑपरेट किया जाता था और ऐसे सैकड़ो ट्रांजैक्शंस के सबूत है जिसे पता चलता है कि प्रदीप द्विवेदी सलमान खान के द्वारा उपलब्ध कराई गई लिस्ट में लिखे नाम से पैसा वसूली करता था और वापस सलमान खान के खाते में डालता था एक ही महीने में  50 लाख से ज्यादा  रुपए के ट्रांजेक्शन उपलब्ध है जो फोनपे पर और एसबीआई और एक्सिस बैंक के खातों से किए गए थे जब सिविल लाइन पुलिस इस मामले में सलमान खान को भी आरोपी बनाने का मन बनने लगी तो उसने अपने राजनीतिक  रसूक और पैसे की दम पर पता नहीं किस प्रकार किसकी मदद से वह पुलिस डायरी ओरछा रोड थाने में ट्रांसफर कर दी और उसकी विवेचना और ओरछा रोड थाने में होने लगी. 


इधर प्रदीप द्विवेदी की मां और पत्नी का आरोप है कि पुलिस उनके घर बार-बार आने लगी और उन्हें प्रताड़ित भी करने लगी और उन दोनों के साथ बदसलू की भी करने लगी यह सब चल ही रहा था कि इसी बीच प्रदीप को जबलपुर हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई और वह वापस छतरपुर अपने शांति नगर वाले घर में जाकर शांति से रहने की कोशिश करने लगा लेकिन सलमान खान के गुंडे और उसके भाई उसके घर पहुंच कर उन्हें फिर धमकाने लगे और कहने लगे कि जो डायरिया अभी उसके पास है जिनमें वसूली का पूरा वही खाता है वह उन्हें दे और साथ में पूरी वसूली करके भी उन्हें दे लेकिन प्रदीप और उसके परिवार ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। 

Advertisment

यहां से मामले ने तूल पकड़ा

यहां फिर सलमान खान की राजनीतिक रसूल सामने आई और फिर छतरपुर के सिविल लाइन थाने में 22 अप्रैल को और फिर छतरपुर के सिविल लाइन थाने में 22 अप्रैल को सलमान खान के भाई साबिर के आवेदन पर मारपीट और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में प्रदीप द्विवेदी के विरोध एक एफआईआर दर्ज हो गई जिसका मकसद था हाई कोर्ट में मिली जमानत को निरस्त करना क्योंकि अगर प्रदीप द्विवेदी पर मामला दर्ज हो जाता तो जमानत पर घर आए प्रदीप द्विवेदी की अग्रिम जमानत हाईकोर्ट से निरस्त हो जाती और मजबूरन उसे वापस सलमान की गिरफ्त में जाना पड़ता लेकिन....जैसे ही प्रदीप द्विवेदी पर यह एफआईआर दर्ज हुई मीडिया के कुछ लोगों और पुलिस अधिकारियों के कान खड़े हो गए उन्हें साफ-साफ समझ में आ रहा था कि कैसे रसूक और पैसे का इस्तेमाल करके सलमान खान प्रदीप द्विवेदी को फिर से फसाने की कोशिश कर रहा है ताकि वह सबसे घबराकर वापस उसके कदमों में अपनी नाक रगड़ने पहुंच जाए ।

 
लेकिन छतरपुर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस मामले में संज्ञान लिया और प्रदीप के विरुद्ध की गई FIR की निष्पक्ष जांच शुरू कर ही दी और इसके साथ साथ में प्रदीप द्विवेदी की मां के आवेदन पर एक और फिर सलमान खान और साबिर खान के ऊपर दर्ज हुई जिसके मुताबिक हुए सभी उनके घर जाकर इसे वसूली की डायरी की मांग कर रहे थे और उनके साथ अभद्र था भी की गई थी , साथ ही प्रदीप को वापस सलमान के साथ काम करने के लिए जबरन बुला रहे थे।।यह FIR 1 मई 2024 को छतरपुर के सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई गई

यह भी पढ़िए :- Dewas : गांव-गांव में शिवराज सिंह चौहान का फूलों की वर्षा कर भव्य स्वागत बहनों ने तिलक लगाकर नारियल के साथ हाथ में थमा दिए 10-10 रूपए

खुद बड़बोलेपन में फंसा सलमान

दूसरी ओर मीडिया का सहारा लेते हुए सलमान खान ने अपने आप को पहले एक वीडियो में  निर्दोष बताया तो वही एक दूसरे वीडियो में उसने साफ स्वीकारा कि वह पहले सट्टे का काम किया करता था यानी कि सलमान खान खुद कह रहा है कि मैं सटोरिया था लेकिन आज की यह सारी घटनाएं बता रही है कि वह पहले भी सटोरिया था और आज भी एक बड़ा सटोरिया है इसके अलावा सलमान खान की पूरी इन्वेस्टिगेशन करने के बाद यह पता चल रहा है कि इसके तार सट्टे के काफी बड़े नेक्सस से जुड़े हुए हैं जो सिर्फ अंतरराज्जीय ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय अभी है  और जिस राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सट्टे के नेक्सस कि हम बात कर रहे हैं इस पर भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियों ED और NIA की भी नजर है और जल्दी लगता है छतरपुर में इसके तार से जुड़े और गुथे सैटोनियों के नाम सामने जरूर आएंगे

Advertisment
Latest Stories