Advertisment

Chhatarpur: जनपद एसडीओ पीएससी पास एसडीओ आरईएस कार्यालय में अटैच ! करीब 9 साल जमे थे पुरुषोत्तम शुक्ला

पीएससी पास एसडीओ आरईइस में अटैच है, और उपयंत्री सालों से जनपदों के प्रभारी एसडीओ बने है। तत्कालीन जनपद पंचायत छतरपुर में पुरुषोत्तम शुक्ला का कार्यकाल करीब 9 साल का रहा।

author-image
By Ankush Baraskar
New Update
sdo
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment

Chhatarpur/संवाददाता संदीप सेन छतरपुर :- शासन द्वारा किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए कपिल धारा कूप निर्माण कराए जा रहे। जिससे किसानों को पानी के लिए परेशान नहीं होना पड़े। लेकिन भ्रष्ट अधिकारी और कर्मचारियों के कारण किसानों को सांसों की जनहितकारी योजनाओं का लाभ न तो पहले पूर्ण रूप से मिल पाया है और ना ही आज मिल पा रहा है। बीते कुछ साल पहले स्थल परिवर्तन करके बनाया गया कपिल धारा कूप निर्माण में 5 लोगों पर 67-67 हजार की रिकवरी के साथ 4 अधिकारी, कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया था।

Advertisment

यह भी पढ़िए :- कांग्रेस के पास इंदौर,जबलपुर,उज्जैन में चुनाव लड़ने के लिए उम्मीदवार नहीं है - कैलाश विजयवर्गीय

जिसमे भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने और नए नए तरीके से भ्रष्टाचार करवाने वाले छतरपुर जनपद के तत्कालीन प्रभारी एसडीओ पुरषोत्तम शुक्ला पैसे की दमक के चलते सस्पेंड नही हुए थे, आए दिन छतरपुर जनपद में शराब खोरी के वीडियो वायरल शुक्ला के होते रहे। कुछ मामले जब ज्यादा चर्चा में आ जाते है तब जरूर कार्यवाही करना प्रशासन मजबूरी बन जाती है। लेकिन उसमे भी वह अपने चहेतों को बचा ले जाते है एक ऐसा ही भ्रष्टाचार से जुड़ा मामला प्रकाश में आया है जहां कुछ कर्मचारियों पर कार्यवाही कर मुख्य भ्रष्टाचारी को छोड़ दिया गया। जिस पर आज दिनांक तक कार्यवाही नहीं हो पाई है।

मामला छतरपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बृजपुरा से जुड़ा हुआ है जहां वर्ष लगभग 2015 - 2016 में कपिलधारा कूप का निर्माण खसरा नंबर बदलकर करवाया गया था, इस कूप निर्माण में एक संगठित भ्रष्ट गिरोह ने भ्रष्टाचार को अंजाम दिया था। जिसमें तत्कालीन समय में पुरुषोत्तम शुक्ला ऐई, एस बी सुमन उपयंत्री, डीपी अग्निहोत्री उपयंत्री, वंश गोपाल पटेल सचिव, रोजगार सहायक प्रत्येक एक पर 67000 की रिकवरी आरोपित की गई थी। इसी मामले में पुरषोत्तम शुक्ला को छोड़कर सभी को निलंबित कर दिया गया था।  

Advertisment

यह भी पढ़िए :- Chhatarpur: खबर का असर ! सहकारी बैंक शाखा बकस्वाहा के प्रबंधक निलंबित

पीएससी पास एसडीओ कार्यालय में अटैच, पुरषोत्तम शुक्ला सालों से बने प्रभारी जनपद एसडीओ -

पीएससी पास एसडीओ आरईइस में अटैच है, और चमचागिरी वाले उपयंत्री सालों से जनपदों के प्रभारी एसडीओ बने है। चमचागिरी में सबसे माहिर तत्कालीन जनपद पंचायत छतरपुर में पुरुषोत्तम शुक्ला का कार्यकाल करीब 9 साल का रहा। 9 साल के कार्यकाल में पुरुषोत्तम शुक्ला ने करोड़ों के फर्जी कामों को अंजाम दिया गया। इसी भ्रष्टाचार के पैसे और चमचागिरी करके अधिकारियों को खुश कर छतरपुर जनपद में 9 साल का कार्यकाल पूरा किया। तरह-तरह के भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया जिसकी शकायत आने वाले समय में ईओडब्ल्यू में होगी। जिला पंचायत के अधिकारियों को वही उपयंत्री, एसडीओ बढ़िया लगते जो उनके इशारों पर नाचें, और भ्रष्टाचार का पैसे समय के पहले पहुंचा दे, के आरोप लग रहते रहते है।

इनका कहना है -

आपके द्वारा जानकारी मिली है, मैं कलेक्टर से बात करता हूं, और कार्यवाही के लिए बोलता हूं।
बीरेंद्र सिंह रावत
कमिश्नर, सागर, संभाग सागर

Advertisment
Latest Stories