Advertisment

Harda: तवा डेम से नहर में पानी लाने मची है श्रैय लेनी की होड़ केदार सिरोही

कृषि विभाग से सीड फ़र्टिलाइज़र की डिमांड, बिजली बिभाग को दुरस्त कराया है..थोड़ा धन्यवाद आप इन निस्वार्थ लड़ाई लड़ने वाले किसान नेताओं को जरूर देना, क्योंकि जरुरत पर यही बिना लाभ लालच के खड़े होंगे

author-image
By Ankush Baraskar
New Update
kisan
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment

Harda/संवाददाता मदन गौर :- नहर लाने के लिए छः दिन सतत आंदोलन करने वाली आंदोलनकारी किसान नेताओं को भी धन्यवाद दे दीजियेगा संयुक्त किसान मोर्चा एक ऐसा संगठन है जो बिना स्वार्थ लालच के बघेल किसानों की लड़ाई लड़कर उसे उसको हक दिलवाने में कामयाब रहता है और श्रैय लेने के लिए कभी आगे नहीं आया ये किसी से भी छुपा नहीं अब हम बात कर रहे है हरदा नहर के क्रेडिट लेने की खुल्ली दौड़ चल रही है जबकि जल उपभोक्ता समिति के बैठक के पहले किसी भी नेता ने नहर मे पानी लाने का सार्वजनिक वादा नहीं क़िया था जैसे खबर लगी की लगोट लेकर दौड़ने लगे..

यह भी पढ़िए :- Harda : पूर्णिमा गुर्जर का राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिता हेतू चयन, मध्यप्रदेश की खो खो टीम में खेलेगी पूर्णिमा

संयुक्त किसान मौर्च के तत्वाधान मे श्री राजेंद्र पटेल, श्री पंकज सिरोही, श्री अशोक जी, श्री राम इनानीय, श्री बसंत रायखेरे, श्री शैलेन्द्र गुर्जर, श्री रामजीवन बास्ट, श्री जांटी लाठी एवं दर्जनों किसान नेताओं ने 6 दिन तब्बू गाड़कर बैठे, नहर के जिले से प्रपोजल बनवाया, कृषि विभाग से सीड फ़र्टिलाइज़र की डिमांड, बिजली बिभाग को दुरस्त कराया है..थोड़ा धन्यवाद आप इन निस्वार्थ लड़ाई लड़ने वाले किसान नेताओं को जरूर देना, क्योंकि जरुरत पर यही बिना लाभ लालच के खड़े होंगे, आपका फायदा करवाने के बाद आपको गिनवाएंगे नहीं..दो दिन मे कितने किसानो ने आंदोलनकारी किसानो को धन्यवाद कहा? जबकि हकीकत सबको मालूम है..

Advertisment
Latest Stories