कैंसर को रोकता  है यह सब्जी

Credit- All pic by google

WHO की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में कैंसर के 20 मिलियन नए मामले सामने आए और 9।7 मिलियन मौत हुईं

कुछ सब्जियों में फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं, जिन्हें फाइटोन्यूट्रिएंट्स भी कहा जाता है। फाइटोकेमिकल्स पौधों में पाए जाने वाले यौगिक हैं जो कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों को रोकने में मदद कर सकते हैं।

बोक चॉय में ब्रैसिनिन भी होता है, एक एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट पदार्थ जो एक सिद्ध कीमोप्रिवेंटिव एजेंट है। इसके सेवन से प्रोस्टेट, कोलोरेक्टल, लंग्स और ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है।

इसमें सल्फोराफेन नामक फाइटोकेमिकल की मात्रा होती है, जो कैंसर से लड़ने वाला यौगिक है जिसे प्रोस्टेट, ब्रेस्ट, कोलन और ओरल कैंसर का खतरा कम होता है।

इसमें कैरोटीनॉयड (एंटीऑक्सिडेंट) और ग्लूकोसाइनोलेट्स की अच्छी मात्रा होती है। इन दोनों यौगिकों में एंटी कैंसर प्रभाव होते हैं।

लहसुन के स्वास्थ्य लाभों में इसके नैचुरल एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण शामिल हैं, जो दोनों कैंसर को रोकने में मदद कर सकते हैं।

केल एक क्रूसिफेरस सब्जी है और इसमें विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है। शोध से पता चला है कि यह प्रोस्टेट, कोलन कैंसर, लंग्स और ब्रेस्ट कैंसर के खिलाफ एक शक्तिशाली सब्जी है।

इनके अलावा आप अपनी डाइट में मटर, पालक, शकरकंद और टमाटर जैसी सब्जियों को शामिल करें। इन सब्जियों में भी कैंसर के लड़ने वाले गुण होते हैं।