Advertisment

Kamal Nath: कमलनाथ को लगा एक ओर बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल हो सकते है ये नेता

Kamal Nath: मध्य प्रदेश में कांग्रेस की परेशानी कम होती नजर नहीं आ रही है। जहां पर एक बार फिर कमलनाथ को बड़ा झटका लगा है। बता दे कि कमलनाथ को अपने ही गढ़ में छिंदवाड़ा से एक और झटका लगा है। जहां परअमरवाड़ा विधायक राजा कमलेश शाह को लेकर ऐसी अटकलें है।

New Update
K

Kamal Nath: Another big blow to Kamal Nath, these leaders may join BJP

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment
 कि वो बीजेपी  में शामिल हो सकते है। इसके अलावा इससे पहले  कांग्रेस प्रवक्ता और वरिष्ठ नेता सिद्धार्थ सिंह राजावत ने भी कांग्रेस पार्टी छोड़ी है ।  
Advertisment

ये लगाई जा रही है अटकलें 

Advertisment
आपको बता दे कि लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बावजूद कांग्रेस पार्टी से नेताओं के  जाने का सिलसिला काम होते नजर नहीं आ रहा है । जहां पर अब  कमलनाथ को अपने ही गढ़ में छिंदवाड़ा से एक और झटका लगा है। जहां पर अमरवाड़ा विधायक राजा कमलेश शाह को लेकर ऐसी अटकलें है कि वो बीजेपी में शामिल हो सकते है । जो की अपनी पत्नी माधवी शाह के साथ भोपाल पहुंच गए हैं। जहां से अब दोनों को बीजेपी में शामिल कराया जा सकता है। 
Advertisment

छिंदवाड़ा के अमरवाड़ा से विधायक हैं

बता दे कि राजा कमलेश शाह छिंदवाड़ा के अमरवाड़ा से विधायक हैं।  जो कमलनाथ के सबसे करीबी विधायकों में से एक है।  यदि वो कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होते है  तो इससे  लोकसभा चुनाव में कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ के लिए  बड़ी चुनौती हो सकती  है । 
 

इस कांग्रेस प्रवक्ता ने दे दिया इस्तीफा

इसके अलावा कांग्रेस पार्टी के  प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह राजावत ने भी कांग्रेस की राजनीति से परेशान होकर अपना इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद राजावत ने  एक भावुक पत्र को लिखकर दिया है। जिसमें  सिद्धार्थ राजावत ने लिखा है कि वे 1984 से कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता रहे हैं।  1988-89 में मैं एनएसयूआई से राजनीतिक सफर चालू किया। इसके बाद वो  कई आंदोलन में शामिल हुए है ।  ग्वालियर से दिल्ली तक पदयात्रा करके प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी को ज्ञापन दिया, यूथ कांग्रेस में कई राष्ट्रीय अध्यक्षों के साथ कार्य किया।  कांग्रेस पार्टी में रहते हुए वफादारी निभाते हुए सिंधिया राजघराने से डायरेक्ट लड़ाई लड़ी।  लक्ष्मीबाई की समाधि को शुद्ध करवाया. प्रियंका गांधी के ग्वालियर आगमन पर गद्दार सिंधिया के पोस्टर रेडिंग लगाकर गद्दारों को सबक सिखाने की कोशिश की। 
Advertisment
Latest Stories